Saturday, April 20, 2024
HomePoem"Yeh Ishq Bada Mushkil Hai" Poetry of G. Shastri

“Yeh Ishq Bada Mushkil Hai” Poetry of G. Shastri

G. Shastri’s Latest Poetry “Yeh Ishq Bada Mushkil Hai”

ये इश्क़ बड़ा मुश्किल है, बहुत दूर इसमें मंजिल है।

खोया खोया बेचैन सा रहता इश्क़ में हर दिल है।

कभी यार की सादगी, तो कभी होती नाराजगी।

दिल की आवारगी तो होती कभी  दीवानगी।

होता यूं ही होता है, इश्क़ में यार बहुत कुछ होता है।

कभी हँसता है, कभी दिल ये चोट खा कर रोता है।

होने को तो बहुत कुछ मोहब्बत में हासिल है।

खोया खोया बेचैन सा रहता इश्क़ में हर दिल है।

This love is very difficult, the destination is very far away.

Lost and lost, every heart remains restless in love.

Sometimes there is simplicity of the friend, and sometimes there is injustice.

The wandering of the heart sometimes leads to madness.

It just happens, a lot of things happen in love.

Sometimes he laughs, sometimes his heart hurts and cries.

There is much to be achieved in love.

Lost and lost, every heart remains restless in love.

पर कभी – कभी खफा ये तकदीर हो जाती है।

यादों के शिवाय दिल को ना कोई ख़ुशी भाती है।

बेबसी जोरो पर और उदासी छाये जाती है।

इश्क़ के शिवाय ना कोई चाहत राश आती है।

ये बेक़ुसूर आँखे लगे के कोई बहती सी झील है।

खोया खोया बेचैन सा रहता इश्क़ में हर दिल है।

But sometimes this fate gets upset.

The heart finds no happiness except memories.

Helplessness prevails and sadness prevails.

Apart from love, there is no desire.

These innocent eyes seem like a flowing lake.

Lost and lost, every heart remains restless in love.

कैसे कहे इश्क़ कितना निकम्मा ये बेरहम होता है।

लगे ऐसा जब बिना बात के खफा सनम होता है।

सारे दर्दो से बड़ा आशिक़ को जुदाई-ए-गम होता है।

रह – रह कर दिल को जलाये ये नाकम होता है।

कैसी मोहब्बत ये हर पल इश्क़ मुश्किल है।

खोया खोया बेचैन सा रहता इश्क़ में हर दिल है।

How to say love is so worthless, it is merciless.

It seems like when Sanam gets angry without any reason.

The pain of separation from a lover is greater than all the pains.

Burning the heart repeatedly does not diminish.

What kind of love, this love is difficult every moment.

Lost and lost, every heart remains restless in love.

Zindagi ye Kadam-Kadam G. Shastri’s Poetry

दिल से दिल मिले, तोड़े ना ये टूटेंगे।

चाहे रब्ब रूठे, हम ना तुमसे रूठेंगे।

When hearts meet, they will not break.

Even if God gets angry, we will not get angry with you.

RELATED ARTICLES

Most Popular