प्यार में दर्द भरी शायरी हिंदी में | Love Sad Poetry in Hindi

सब खफा हुए, एक यादों के कारवां हैं जो मिजाज पूछने चले आते हैं। फिर भी मलाल रहता है, के वो बेवफा की याद दिला कर रुलाते हैं।

बुझ गए ख्वाहिशों के चिराग, मर गए दिल के अरमान। चंद पलों की मोहब्बत खाख हुई, बस रह गए निशान।

क्यों दिल में मोहब्बत का तसव्वुर हो, विरानो में फूल नहीं खिला करते। इत्फ़ाक किस्मत वालो के होते हैं, बिछड़े यार सब को नहीं मिला करते।

पूछ ली उससे मुस्कुराने की कीमत, जज्बातों से खेलने की फरमाइश की। उसके आंसू अपनी आँखों से रोते थे, कहाँ उसे ना करने की ख्वाहिश थी।

दर्द मेरे दिल को भाता नहीं है, और उसका ख्याल दिल से जाता नहीं है। कैसे दर्द रुखसत होगा मेरे दिल से, ये दिल है के उसे भूल पाता नहीं है।

अब कहाँ वो प्यार की बातें, गम-ए-दर्द के बादल छाये हैं। छुप गया वो चाँद कहीं, अब तो अँधेरे तन्हाई लेके आये हैं।

कैसे रोशन करू दिल का आशियाना, बुझ गए मोहब्बत के चिराग। जिनके भरोसे छोड़ी ज़िंदगी, वो ही बिन कफ़न मुझे लगा गए आग।

मसला ये नहीं, के हम गम-ए-दर्द का बोझ उठा के जिया करते हैं। मुझे मलाल ये है, की वो मेरे दर्द की खबर गैरों से लिया करते हैं।