Sad Shayari in Hindi | Latest सैड शायरी 

गम ए दर्द अकेले ही उठाते रहे, मेरे टूटे दिल को कोई सहारा ना मिला।

वो खफा होके कस्ती बदल ली, मुझे बेवफा समंदर में किनारा ना मिला।

हमसे सहारे की क्या उम्मीद रखते हो, हम खुद ही बेसहारा हैं।

बेवजह जिसका साहिल बिछड़ गया हो, हम टूटा वो किनारा हैं।

आंसुओं के सिवा कुछ हो तो, फिर उस पर लूटा दू।

लोट आने की खबर कोई दे, तो खुद को भी मिटा दू।

उसने अगर आंसू बकसे हैं तो क्या, ये भी तो उसकी मोहब्बत है।

गैरों को तो कोई गाली भी ना दे, हम पर तो उसकी इनायत है।