"कलम उठाए - Kalam Uthaye"

कलम उठाए कवि सोचे जाए की आज किस बारे में बताए

फूलों की बात करें या महात्माओ का गुणगान आम भाषा में लिख जाए या बनाए नई जुबान।

शब्दों की चित्रकारी, या खाली छोड़ जाए आसमान। आम भाषा में लिख जाए या बनाए नई जुबान।

शांति का वो दूत बने, या दे कोई नई मिसाल कोई जबाब वो बताए या छोड़ जाए सवाल

हर कण में करता वो बात, और समझे उनके हालात।

अनसुना उन्हें कर जाए या दे वो अपना साथ हर तरफ खुशियाँ फैलाए या सुन्न कर दे सारे जज्बात।

आम भाषा में लिख जाए या बनाए नई जुबान।

कलम उठाए कवि सोचे जाए की आज किस बारे में बताए आम भाषा में लिख जाए या बनाए नई जुबान।