Tuesday, January 31, 2023
HomeGood Nightदर्द भरी गुड नाईट शायरी इन हिंदी | Sadness Good Night Shayari

दर्द भरी गुड नाईट शायरी इन हिंदी | Sadness Good Night Shayari

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - झुका पलकें शर्माना,

झुका पलकें शर्माना, तेरा पवन सा छू गुदगुदाना।

तन्हां रातों में याद आया बहुत, तेरा वो मुस्कुराना।

Bending eyelids shy, your wind touches and tickles.

I remembered a lot in lonely nights, that smile of yours.

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - बीते लम्हों की यादें,

बीते लम्हों की यादें, तेरी परछाई झलके चांदनी के नूर में।

घुटती है ज्यों ज्यों रात, मेरी तन्हाई आती है और सुरूर में।

Memories of the bygone moments, your shadow shines in the light of Chandni.

As the night suffocates, my loneliness comes and goes.

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - तरस नहीं मेरी आँखों पर,

तरस नहीं मेरी आँखों पर, करवटें बदल कर ढल रही रात है।

बेचैन किया दिल को, आँखों में आने दे ना नींद तेरी याद है।

No pity on my eyes, the night is turning by turning sides.

Do not let the restless heart come in your eyes, sleep is your memory.

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - तेरी यादों का कारवाँ चला आता,

तेरी यादों का कारवाँ चला आता, रात काली हो के भी खास है।

के तू दूर बहुत है मुझसे, फिर क्यों तेरे पास होने का अहसास है।

The caravan of your memories would come, the night is special even if it is black.

That you are far away from me, then why do you have the feeling of being near.

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - खिले थे कभी तुमसे,

खिले थे कभी तुमसे, आज सिमट गए हैं छुईमुई से ढलती रात में।

भाती थी बरखा मुझे, बिन तेरे भीगने का दिल ना चाहे बरसात में।

You used to bloom once, today you have been confined to the scorching night.

I liked the rain, without your heart I do not want to get wet

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - आँखों का काजल चुराया,

आँखों का काजल चुराया, तुमने मेरे दिल का करार।

लम्बी कटती हैं रातें, के हर पल होता है तेरा इंतजार।

Stole the kajal of my eyes, you have signed my heart.

The nights are long, that every moment is waiting for you.

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - तन्हाई की दीवारों में कैद जिंदगी

तन्हाई की दीवारों में कैद जिंदगी, सिसकियों भरी रात रह गई राज।

कभी तो मुझे चाहा बहुत, मेरी हसरत जगा के तूने क्यू बदला मिजाज।

Life imprisoned in the walls of loneliness, the secret remained a night full of sobs.

Sometimes I wanted a lot, wake up my heart, why did you change your mood?

Good Night Painful Poetry

दर्द भरी गुड नाईट शायरी - हकीकत तुम हुए ना सपने मेरे,

हकीकत तुम हुए ना सपने मेरे, ख्वाबों की दुनिया में जी रहे हैं।

सुलगती हैं रात, धधकता है दर्द-ए-इश्क़, तन्हां वो दर्द सी रहे हैं।

Reality you are not my dreams, you are living in the world of dreams.

The night is smoldering, there is a burning pain-e-ishq, there they are feeling like pain.

Good Night Painful Poetry
- -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

Related News