Sad Poems in Hindi, Sad Love Poetry, Broken Heart Shayari

Sad Poems in Hindi, Sad Love Poetry, Broken Heart Shayari

1. Sad Poems in Hindi - दर्दे सितम हैं

Sad Poems in Hindi - दर्दे सितम हैं
Sad Poems in Hindi

दर्दे सितम हैं के थमने का नाम नहीं।

जख्मों को सीया बहुत, ख़ुशी का जाम नहीं।

किसको सुनाऊ मैं हाल ऐ दिल, कोई मेरा महबूब नहीं।

जी रहा हु के हु मैं जिन्दा, इतनी भी मुझे सूध नहीं।

बेकार पड़ा हु कोने में, फिर भी मुझे आराम नहीं।

दर्दे सितम हैं………………

बहुत कुछ कर गए हम, मगर किसी को कोई अहसान नहीं।

आंसुओ का उमड़ा सैलाब, कभी होठों पे मेरे मुस्कान नहीं।

मरे को मारना फितरत यारो की, के दूजा कोई काम नहीं।

दर्दे सितम हैं……………………..

बहुत किया बर्दास्त अब सहने की ताकत नहीं।

ना दर्द चाहिए ना सुनूं किसी ख़ुशी की चाहत नहीं।

थक गया इस ज़िंदगी से ढलती जीवन की शाम नहीं।

दर्दे सितम हैं……………………..

टूट गए सारे ख़्वाब, ज़िंदगी में कोई सपना नहीं।

हर कोई मतलबी यार, इस जहां में कोई अपना नहीं।

चले यारो, पीया जो ज़हर वो अमृत का जाम नहीं।

दर्दे सितम हैं…………………….

There is no name of stopping the pain.

Lots of wounds, no jam of happiness.

To whom should I tell, O heart, no one is my lover.

I am living that I am alive, I do not even care that much.

I am lying idle in the corner, still I do not rest.

The pain is…………

We have done a lot, but no one is doing any favors.

There was a flood of tears, never a smile on my lips.

Killing the undead is of no use to the fellow man.

There are pains...............

Having done a lot, I no longer have the strength to bear it.

I don't want pain, I don't want any happiness.

Tired of this life is not the evening of life.

There are pains...............

All dreams are broken, there is no dream in life.

Everyone is mean friend, in this place no one is his own.

Come on guys, the poison that you drank is not a jam of nectar.

The pain is ..................

2. Sad Poems in Hindi - तुमने ली क्या ये कसम।

Sad Poems in Hindi -  तुमने ली क्या ये कसम।
Sad Poems in Hindi

मै तेरी चाहतो का प्यासा सनम।

रूठी हो क्यू , तुमने ली क्या ये कसम।

यू तेरा मुँह फेर लेना बेवजह नाराज़ होना।

सहा जाये ना मुझसे एक पल को तुझे खोना।

ये तेरी खामोशियाँ कर देती हैं आँखे नम।

रूठी हो क्यू …………………………

तेरा कहना मेरा सुनना ,बहुत याद आता है तेरा हंसना।

लत लगी है तेरी मुझे, भाये ना तन्हा आहें भरना।

एक पल की जुदाई निकाल देती है मेरा दम।

रूठी हो क्यू ……………………………..

खफ़ा होके ना सताया करो, यूं दूर मुझसे ना जाया करो।

याद आने से पहले ,हमदम मेरे तुम आया करो।

बहुत हुआ रूठना मानना करलो अब रहम।

रूठी हो क्यू ……………………………..

गर खता हुई तो सजा दो, पर अब मान जाओ।

कुछ तो कहो यार यु खामोश रहके ना सताओ।

तोड़ के चुपी अब निभा लो वफ़ा की रश्म।

रूठी हो क्यू …………………………

I am thirsty for your wishes.

Why are you angry, did you take this oath?

U turn your face unnecessarily angry.

Don't bear me losing you for a moment.

These silences make your eyes moist.

Why are you angry ………………………

I listen to your words, I miss your laughter.

I am addicted to you, don't you like to sigh.

A moment's separation removes my breath.

Why are you angry ………………………………..

Don't be angry, don't harass, don't go away from me like this.

Before you remember, you come to me.

Believe that you have had a lot of anger, now have mercy.

Why are you angry ………………………………..

If you do, then punish, but now accept it.

Tell me something, man, don't harass by being silent.

Break your silence and now fulfill the Rasht of Wafa.

Why are you angry ………………………