Latest Sad Shayari in Hindi Status Image for Whatsapp sad sms

Latest Sad Shayari in Hindi Status Image for Whatsapp sad sms

1. Latest Sad Shayari in Hindi कोई ख़ुशी तो नहीं, मगर मेरी मज़बूरी है हसना।

Latest Sad Shayari in Hindi कोई ख़ुशी तो नहीं, मगर मेरी मज़बूरी है हसना।
Latest Sad Shayari in Hindi

कोई ख़ुशी तो नहीं, मगर मेरी मज़बूरी है हसना।

आदत बना ली है, रोक लेना आँसुओ का बहना।

दर्दों का तूफान मैं अन्दर समेटे हूँ,

टूटी हुई मूरत पर खुशियों का चोला लपेटे हूँ।

शायद यही थी मेरी तकदीर,

ज़िंदा होक भी सितमो की चिता पर लेते हूँ।

कुछ को यकीं हो,

मगर शायद किसी को अच्छा ना लगे मेरा ये कहना।

कोई ख़ुशी तो नहीं, मगर मेरी मज़बूरी है हसना।

उनका दावा हमेशा था की किया है बहुत प्यार।

जबकि कभी था ना तुझपे हमें ऐतबार।

ज़िंदगी गमगीन बनाके कहते रहे,

के है ना कोई हमसे बड़ा वफ़ादार।

के मज़बूरी हो गई झूठ से बने आसियाने में रहना।

कोई ख़ुशी तो नहीं, मगर मेरी मज़बूरी है हसना।

तड़प तड़प के ख़ाख़ हुई मेरी जवानी,

सजा बन गई मेरे लिए मेरी ही मेहरबानी।

ना ज़िंदा हूँ ना मैं मर रहा,

ये है मेरी ज़िंदगी की कहानी।

नाक तक भर गया मैं, अब ना होगा ये सितम सहना।

कोई ख़ुशी तो नहीं, मगर मेरी मज़बूरी है हसना।

No happiness, but my compulsion is to laugh.

Have made a habit, stop the flow of tears.

I carry the storm of pain inside,

Wrapped a cloak of happiness on a broken idol.

Maybe this was my destiny,

I also take the living hok on the pyre of Sitamo.

believe some,

But maybe no one likes my saying this.

No happiness, but my compulsion is to laugh.

He always claimed to have done a lot of love.

While there was never a time when we were in love with you.

Keeping life gloomy and saying,

There is no one more loyal than us.

I am forced to live in a house made of lies.

No happiness, but my compulsion is to laugh.

My youth was ruined by torment,

My own kindness became a punishment for me.

I am neither alive nor am I dying

This is the story of my life.

I have filled my nose, now I will not have to bear this pain.

No happiness, but my compulsion is to laugh.

2. Latest Sad Shayari in Hindi - जानता था मैं हसल मेरा क्या होना है।

Latest Sad Shayari in Hindi - जानता था मैं हसल मेरा क्या होना है।
Latest Sad Shayari in Hindi

जानता था मैं हसल मेरा क्या होना है।

कर्मो की सजा पाई, अब बस रोना है।

टूट गया मेरा ऐतबार,

खुद से भी रहा ना प्यार।

एक तूफ़ां दर्द दे गया हज़ार,

तक़दीर ने भी अपनाने से कर दिया इन्कार।

बिछी काँटों की सेज, जिस पर मुझे सोना है।

जानता था मैं हसल मेरा क्या होना है।

किसको दोष दू आज मैं, ख़ता पर खता करता रहा।

कहीं हो ना जाऊ मैं बेघर इस बात से डरता रहा।

आज वो दिन आया, हासिल किया खोना है।

जानता था मैं हसल मेरा क्या होना है।

मेरी वफ़ाओ का सिला मिल गया,

वज़ूद आज मेरा यारो मिट गया।

ये ही था अंजाम मेरी ज़िंदगी का,

वफ़ा के बदले तोहमत नशीब लिख गया।

क्या जानू कैसे ये तोहमत ऐ दाग धोना है।

जानता था मैं हसल मेरा क्या होना है।

I knew what was going to happen to me.

Received punishment for karma, now I just have to cry.

My love is broken,

Don't love yourself too.

One storm gave pain to a thousand,

Fate also refused to adopt.

A bed of thorns on which I want to sleep.

I knew what was going to happen to me.

Whom to blame today, I kept writing letter on letter.

I was homeless because I was afraid of going somewhere.

Today that day has come, to gain is to lose.

I knew what was going to happen to me.

Found the thread of my wafao,

Today my friend has disappeared.

This was the end of my life,

Tohmat Nasheeb was written in lieu of Wafa.

Do you know how to wash this Tohmat O stain?

I knew what was going to happen to me.

3. Latest Sad Shayari in Hindi -

Latest Sad Shayari in Hindi -
Latest Sad Shayari in Hindi

तुझसे दूर रहने में ही भलाई है, संग तेरे बहुत हुई जगहसाई है।

नजदीकियां बढा के देख ली बहुत, तुझसे मिल मुझे रुसवाई है।

जब जब चाहा तुझपे यकीं करना, हर बार तूने यकीं मेरा तोड़ दिया।

बढ़ने ही ना दिये कदम खुशियों की तरफ, हर कदम ग़मो की और मोड़ दिया।

कैसी वफ़ा ये, जख्मो पर नमक छिड़कने से ना तू घबराई है।

तुझसे दूर रहने में ही भलाई है, संग तेरे बहुत हुई जगहसाई है।

हसना मैं भूल गया, संग दर्दो के ज़ी रहा हूँ ,

कैसी ये ज़िंदगी, आंसुओ को पी रहा हूँ।

बहुत ढाये जुल्मों सितम मुझ पर,

तन्हा अकेले दर्द ऐ सितम सी रहा हूँ।

तड़प तड़प के जीना , और मर मर के वफ़ा ऐ रश्म निभाई है।

तुझसे दूर रहने में ही भलाई है, संग तेरे बहुत हुई जगहसाई है।

माने ना दिल ये वफ़ा करने से, बहुत मैं इसे समझाता हूँ।

फरेबी ज़माने से डरता हूँ, मैं इंसानों से घबराता हूँ।

रीत बनी ज़माने की, दर्दो का बोझ बढ़ाने की,

वफ़ा के बदले हर बार मैं ज़ख्मो को पाता हूँ।

याद आई गुजरी बातें, उन बातों से आँख मेरी भर आई है।

तुझसे दूर रहने में ही भलाई है, संग तेरे बहुत हुई जगहसाई है।

It is good to stay away from you, you have a lot of space with you.

I have seen a lot of closeness, meeting you has made me cry.

Whenever you wanted to believe in you, every time you broke my faith.

Not only did he step towards happiness, every step turned towards sorrow.

How good is this, you are not afraid of sprinkling salt on the wounds.

It is good to stay away from you, you have a lot of space with you.

I forgot to laugh, I am living with pain,

How is this life, I am drinking tears.

Many atrocities have been imposed on me,

I am alone in pain.

Live in agony, and have performed the blessings of death.

It is good to stay away from you, you have a lot of space with you.

Don't believe me, by doing this Wafa, I explain it a lot.

I'm afraid of the crazy times, I'm afraid of humans.

Ritual of the time, of increasing the burden of pain,

Every time I get wounds in return for loyalty.

I remembered the past, those things filled my eyes.

It is good to stay away from you, you have a lot of space with you.

हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत धन्यवाद और अधिक पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट के काटेगोरिएस सेक्शन में विजिट करे, यकीं मानिये आपको बहुत मज़ा आने वाला है।

Thank you very much for reading this post and to read more, you should visit the section section of our website, as if you are going to have a lot of fun.