Coronavirus Hindi Shayari

Coronavirus Hindi Shayari

Coronavirus Hindi Shayari
Coronavirus Hindi Shayari, covid-19,

वाह रे ज़माने ये क्या हो रहा है, कोई महँगाई को, कोई बीमारी को रो रहा है।

हर कोई कोरोना के कहर का मारा, होश हवाश हर इंसान आज खो रहा है।

कैसी ये बेसुधी कैसा ये नशा है, क्यू ना रहम कहीं कैसी ये सज़ा है।

टूट जाते हैं दिल बेरहमी से, covid-19 का दौर जीने में ना मज़ा है।

वाह रे ज़माने ये क्या हो रहा है, कोई झूठमूठ हंस रहा तो कोई रो रहा है।

हर कोई कोरोना के कहर का मारा …………………………

जग घूम लिया सारा , चैन सुकूं से ना किसी को पाया।

कोई था ज़माने का रुलाया, कोई covid-19 का सताया।

किसी को अपनों ने सताया, किसी को नशीब ने हराया।

ये क्या हो रहा है, किसी ने भी ना मुझे समझया।

वाह रे ज़माने ये क्या हो रहा है क्यू कोई एक दूसरे की राहों में कांटे बो रहा है।

हर कोई कोरोना के कहर का मारा ……………………………………………..

ये कैसी ज़िंदगी जो शर्तों पर जीनी पड़े।

जिसे देखो वो तनो के तीर लिए खड़े।

हर किसी को हर किसी से तकलीफ बहुत,

ऐसे में कोरोना जैसी महामारी से कैसे लड़े।

वाह रे ज़माने ये क्या हो रहा है, देख बदली ज़माने की, क्या कहने को रहा है।

हर कोई कोरोना के कहर का मारा ………………

Wow, what is happening these days, some are crying over inflation, some are crying for disease.

Everyone was hit by the havoc of Corona, every human being is losing consciousness today.

How is this senselessness, how is this intoxication, why is there no mercy, where is this punishment?

Hearts are broken mercilessly, there is no fun in living the era of covid-19.

Wow, what is happening these days, some are laughing falsely and some are crying.

Everyone was hit by the havoc of Corona……………………

The whole world wandered, found no one in peace.

Some were crying of the times, some were tormented by covid-19.

Some were persecuted by loved ones, some were defeated by Nasheeb.

What is happening, no one understood me.

Wow, what is happening these days, why is someone sowing thorns in each other's paths.

Everyone was hit by the havoc of Corona ………………………………………………..

What kind of life is this that has to be lived on conditions.

The one who sees them stands with the arrows of the trunk.

Everyone suffers a lot from everyone else,

In such a situation, how to fight the epidemic like corona.

Wow, what is happening in this time, look at the changed times, what is it going to say.

Everyone was hit by the havoc of Corona…………